Latest Govt Jobs India - Indian Government Jobs - Sarkari Naukri

2018 - 2019 Upcoming & Latest Govt Jobs Notifications in Banking, Railway, Police, Defense, SSC, UPSC and many more Govt Jobs.

आईएएस की तैयारी घर पर बैठकर कैसे करें , जाने परीक्षा से समन्धित प्रश्न

आईएएस की तैयारी घर पर बैठकर कैसे करें , जाने परीक्षा से समन्धित प्रश्न

 

अपने घर से करे आईएएस की तैयारी, घर बैठे करे आईएएस परीक्षा की तैयारी, आईएएस परीक्षा में पूछे जाने वाले प्रश्नो की लिस्ट देखे, आईएएस परीक्षा में पूछे जाने वाले महत्वपूर्ण प्रश्न

आईएएस परीक्षा महत्वपूर्ण परीक्षा है, इसके लिए लक्ष्य निर्धारण के साथ समय सीमा और धैर्य-लगन सहित कठिन परीश्रम आदि के माध्यम से उत्तीर्ण की जा सकती है। आईएएस परीक्षा की तैयारी के लिए अभ्यर्थी को कोचिंग पर ज्यादा विष्वास होता है, इसलिए वह सबसे पहला काम षहर की सबसे महंगी कोचिंग से जुड़ने को ही सफल होने का मंत्र मान लेता है। जबकि आईएएस की तैयारी षुरू करने वाले अभ्यर्थी की पहली योजना यह नहीं होना चाहिए। इस लेख में हम आपको घर पर आईएएस की तैयारी को सफल बनाने के मंत्र बताने जा रहे है, इसलिए पूरे लेख को अंत तक ध्यान से पढ़े और उस पर अमल कर आप अपनी मंजिल तक पहुंचें।

Contents [show]

कैसे से करे आईएएस परीक्षा की तैयारी

वैसे तो किसी भी परीक्षा के लिए कोई समय निर्धारण नहीं कर सकता, लेकिन अभ्यर्थियों को 18 महीने की अथक परिश्रम से उस समयसीमा तक पहुंच सकता है। इसके साथ अभ्यर्थी को करंट अफेयर्स सहित अन्य समसामायिक घटनाओं पर पैनी नजर रखनी है। क्यांेकि आईएएस की परीक्षा के लक्ष्य को तीन प्रयासों को पार कर ही प्राप्त किया जा सकता है, जिसमें प्रथम प्रयास जिसे प्री एक्जाम कहते हैं, उसमें करंट अफेयर्स और विषय से संबंधित प्रष्नों का मिश्रण आता है। यदि अभ्यर्थी के पास 60 दिन षेष भी है, तो भी सही रणनीति एवं कठिन परीश्रम से लक्ष्य को भेदना नामुमकिन नहीं है।

उम्र व समय देखें

लक्ष्य को भेदने के लिए, पहले तय करें कि क्या यह सही समय है सिविल सेवा की तैयारियों के लिए? जैसे कहीं उम्र व षिक्षा सीमा से पहले या फिर बाद के चलते आपकी मेहनत बेकार न जाएं। ज्यादातर उम्मीदवार जो कि 23-28 साल की आयु वर्ग में सिविल सेवाओं की परीक्षा पास करते हैं, आप इस आयु वर्ग की तुलना में पहले या बाद में परीक्षा की तैयारी षुरू कर रहे है। इसके लिए 15 साल की उम्र बहुत जल्दी और 29 आयु वर्ग बहुत बाद की होगी, यघपि आप आरक्षित श्रेणी में न आते हो तो?
इसके अलावा ये भी जांच ले कि आपको सिविल परीक्षा की पूर्ण जानकारी प्राप्त है या फिर आप कुछ महत्वपूर्ण बिन्दुओं को छोड़कर तैयारियों में जुट गए है, जिसके कारण आपकी मेहनत व्यर्थ न जाएं।

प्रीलिम्स (प्री-एक्जाम)की तैयारी

अधिकतर अभ्यर्थी आईएएस परीक्षा की तैयारी बहुत पहले से ही ाषुरू कर देते हैं। लेकिन किन्हीं कारणवष यदि अभ्यर्थी के पास मात्र 60 दिन ही बचे हैं, तो भी वो तय समय तक प्रीलिम्स(प्री-एक्जाम) को क्रेक कर सकता है। इसके लिए करंट अफेयर्स को लेकर सजग रहना है।
ज्यादा से ज्यादा करंट अफेयर्स को जानें

करंट अफेयर्स के लिए आप क्या करते है? दरअसल प्री-एक्जाम में कुछ समय पहले की प्रमुख घटनाक्रम से संबंधित प्रष्न ही आते हैं इसलिए हिन्दी व अंग्रेजी समाचार पत्र, मै़गजीन, न्यूज चैनल पर करंट अफेयर्स, पर अपना ध्यान केन्द्रित करें। साथ ही मोबाइल पर सोषल मीडिया (जैसे. फेसबुक व्हाटसअप) पर प्रचलित फेक न्यूज व जानकारियों से बचें।

आईएएस संबंधी सटीक पुस्तकों को पढें

जब आप आईएएस परीक्षा की तैयारी घर पर ही करने की सोच रहें हैं तो आपकों स्वंय से ही तैयारियों की सीमा तय करनी होगी। तैयारियों के लिए आईएएस संबंधी अच्छी एवं सटीक पुस्तकों को ज्यादा से ज्यादा पढ़ें। बिना पुस्तकों के अच्छी तैयारी असंभव है। इन पुस्तकों में लक्ष्मीकांत की भारतीय राजतंत्र, भारतीय कला एवं संस्कार, नितिन सिंघानियां की भारतीय कला एवं संस्कार, ऑक्सफोर्ड स्कूल एटलस, भारतीय अर्थव्यवस्था, इंडिया ईयर बुक, ए ब्रिफ हिस्ट्री आफ मॉडर्न इंडिया, एनसीईआरटी बुकस् आदि कई किताबें आप को ऑनलाइन एवं बाजार दोनों जगह मिल जाएंगी।

तैयारी की सूची बनाएं और उसका पालन करें

यदि आप घर से सिविल परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं तो सुख-सुविधाओं के चलते तैयारियों में व्यवधान होना सहज है। इसके लिए हर सुविधाओं जैसे टीवी, मोबाइल, रिष्तेदार, आदि व्यवधानों को दूर करना जरूरी है। या फिर तैयारी योजना 12 महीने की तैयार करें। आईएएस परीक्षा के दो पेपर होते है दोनों के लिए पर्याप्त समय विभाजित करें। पेपर 1 सामान्य अध्ययन की तैयारी के लिए अधिक समय और पेपर 2 को कम समय में भी किया जा सकता है।
भारतीय इतिहास, प्राचीन मध्ययुगीन, आधुनिक व प्राचीन इतिहास पर अधिक ध्यान देना फायदेमंद रहेगा, क्योंकि अधिक प्रष्न यहां से ही षुरू हो रहे है। इसके अलावा अध्ययन कला, संस्कृति कला, इतिहास को अलग-अलग विषयों में न देखें।
कुछ समाचार उत्तरी मैदानों के बारे में भी आते हैं इसलिए इनकी विषेषताओं व महत्वपूर्ण क्षेत्रों को कवर करना ही बेहतर है।

मॉक टेस्ट सीरीज में भाग लें

घर से आईएएस परीक्षा की तैयारी कर रहे अभ्यर्थियों को ज्यादा तैयारी की आवष्यकता पडेगी। मॉक टेस्ट सीरीज आईएएस परीक्षा की तैयारी कर रहे अभ्यर्थियों के लिए बहुत फायदेमंद रहती है। चूंकि अभ्यर्थी को नकली परीक्षण (मॉक टेस्ट सीरीज) में न केवल प्रष्नों के पैटर्न को समझने में मदद मिलती है, बल्कि मुष्किल अवधारणाओं को भी समझने में मदद मिलती है। इस भरोसेमंद मॉक टेस्ट सीरीज पर नामांकन करने से अभ्यर्थी को अपनी सामर्थ्य का पता चलता है।

समय का सदुपयोग करें

आईएएस परीक्षा की तैयारी के बावजूद यदि आपके दिनभर में तैयारी के बाद यदि कुछ समय ऐसा है जिसमें आप फ्री है, तो उसका सदुपयोग अवष्य करें। इसके लिए आधुनिकता में सोषल मीडिया पर घंटों खराब करने से अच्छा है कि उन सभी सोषल एप्प को मोबाइल से डिलीट ही कर दें। ताकि यह आपका ध्यान आकर्षित ही न कर पाएं। जैसे आप पढ़ते-पढ़ते थोड़ा बोर महसूस करें तो 10 मिनट का ब्रेक अवष्य लें और उस समय में थोड़ा चलफिर लें। यघपि अभ्यर्थी पढ़ते-पढ़ते परेषान होने पर मोबाइल में सोषल मीडिया पर समय व्यतीत करना पसंद करते हैं जो कि धीरे-धीरे बढ़ने लगता है और आपका काफी समय खराब हो जाता है।

लिखने की आदत डालें

आईएएस की तैयारी के लिए तेज गति से लिखने की आदत होना बहुत जरूरी है अन्यथा पेपर छूटने की स्थिति न बन जाएं। इसलिए जितना हो सके खाली समय में तेज गति में लिखने की आदत बनाएं। इसके लिए आप टीवी में न्यूज देखकर लिखने का अभ्यास कर सकते हैं।
नये मुद्दों पर दोस्तों से करें बातचीत
व्यर्थ की बातों में समय खराब करने से अच्छा हैं समझदार दोस्तों के साथ करंट अफेयर्स पर चर्चा करें। चूंकि अकसर नये बड़े मुद्दों पर ही परीक्षा में प्रष्न पूछे जाते हैं, यदि आप उन प्रष्नों पर अधिक स्पष्ट होंगे तो आप उनका उत्तर तुरंत लिख सकेंगे और आप का समय बचेगा।

टॉपर्स के इंटरव्यू पढ़ें

आईएएस परीक्षा में तैयारियों की बारीकियां आपकों टॉपर्स से अच्छा कोई नहीं दे सकता। इसलिए जितना हो सके उनकी दिनचर्या, उनका खानपान, उनकी तैयारी एवं उनके इंटरव्यू अवष्य पढ़ें। इससे आपको दो फायदें होना निष्चित है, एक तो आप मोटिवेटट होंगे और दूसरा सही तरीका भी मालूम हो सकेगा। जिसके आधार पर आप भी सफल हो सकते हैं।

योग कर ध्यान केंद्रित  रखें

परीक्षा की तैयारी कर रहे अभ्यर्थियों को योग क्रियाओं की जानकारी होना चाहिए ताकि ध्यान केन्द्रित कर पढ़ाई कर सकें। आजकल कई प्रकार के योग द्वारा याद्दाष्त बढ़ाने, ध्यान एकाग्र करना, फिट रखना आदि करना प्रत्येक अभ्यर्थी के लिए जरूरी है, जिससे वह अपने लक्ष्य से न भटकें।

Govt Job 2017 Latest Central and State Government Jobs India © 2017